What is Digital Currency

What is Digital Currency?

Digital Currency क्या है? / What is Digital Currency?

 

मित्रों Digital Currency पैसों का एक ऐसा रूप है जिसे छुआ और भौतिक रूप से देखा नहीं जा सकता है। यह पैसों का  एक ऐसा रूप है जो कि Digital स्वरूप में इंटरनेट पर विद्यमान है।

Digital Currency का concept समझना ज्यादा मुश्किल नहीं है। Digital Currency लोगों की लोकप्रियता पर निर्भर करती है। और जितना लोग भरोसा करते हैं उतनी ही इसकी कीमत बढ़ती है।

 

डिजिटल करेंसी:

मित्रों यदि आपने  Money Heist फिल्म देखी है तो आप यह समझ चुके होंगे कि किसी भी पैसे की कीमत  उसे पैसे पर भरोसा करने वाले लोगों के द्वारा ही बढ़ती है।  यहां तक की  सोने की कीमत भी तभी तक होती है, जब तक लोग उसकी कीमत को मानते हैं, और उसके द्वारा वस्तुओं का आदान प्रदान करने के लिए सहमत होते हैं।

 

इसी प्रकार डिजिटल Currency जिसे Cryptocurrency के नाम से भी जाना जाता है। दुनिया भर में इसकी लोकप्रियता में काफी ज्यादा इजाफा हुआ है। और इसका एक कारण Blockchain Technology है।

 

Blockchain Technology:

इस टेक्नोलॉजी के द्वारा हर एक छोटा ब्लाक डेटाबेस एक लिमिटेड इनफार्मेशन को इस प्रकार स्टोर करता है जिसे कभी मिटाया नहीं जा सकता और यह पूर्णतः एक लिमिटेड डाटा से भरी हुई होती है। और जब एक ब्लाक का काम पूरा हो जाता है तो यह एक प्रोताक्टेद के के द्वारा क्लोज किया जाता है और ऑटोमेटिकली नया ब्लाक गेनेराते हो जाता है जो पुराने वाले ब्लाक से लिंक्ड होता है बिलकुल एक चैन की तरह।

इसी लिए इसे एक Blockchain Technology कहा जाता है।

 

Blockchain Technology एक ऐसी Technology है जो कि  Decentralized Finance पर निर्भर करती है। जिसे DeFi भी कहा जाता है।  इसका मतलब यह होता है कि Digital Currency या फिर Cryptocurrency का कोई भी एक व्यक्ति मालिक नहीं होगा। यह Cryptocurrency या फिर Digital Currency विभिन्न प्रकार के Node यानी कि सिस्टम के द्वारा कनेक्टेड होंगे। और यह कनेक्टिविटी इस Cryptocurrency की वैधता को बरकरार रखेगी।

 

भारत में भी आज के समय जहां शीतकालीन सत्र के बजट सत्र में अगले वित्तीय वर्ष के लिए बजट पेश किया गया है। उसमें डिजिटल करेंसी को वैधता दे दी गई है। और इसमें इन्वेस्ट करना तथा इससे मुनाफा कमाना कानूनी रूप से स्वीकार कर लिया गया है।

 

आज के समय Cryptocurrency के द्वारा वित्तीय लेनदेन संभव हो सकता है। जिस प्रकार इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा मात्र कुछ क्लिक करने पर आप अपने पैसों को बिना हाथ लगाए दूसरे स्थान पर भेज सकते हैं। उसी प्रकार Cryptocurrency एक ऐसी डिजिटल करेंसी है  जिसका इस्तेमाल भी आप बिल्कुल ऐसे ही कर सकते हैं। लेकिन इसकी सबसे बड़ी  श्रेष्ठता यह है कि इसका कोई भी एक केंद्रीय बिंदु नहीं है। बल्कि करोड़ों केंद्रीय बिंदु है।  और किसी भी ट्रांजैक्शन को कंप्लीट करने के लिए उन करोड़ों बिंदुओं से  वेरिफिकेशन करवाया जाता है, जिसके लिए किसी व्यक्ति को पर्सनली वेरीफाई करना जरूरी नहीं होता है, यह सिस्टम के द्वारा वेरीफाई कर दिया जाता है।

Digital Currency कितने प्रकार की होती है?

Digital Currency आज के ।समय मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती है, जिनके नाम इस प्रकार हैं-

  1. Central Bank Digital Currency

जब  किसी देश का  सेंट्रल बैंक या फिर स्टेट बैंक कोई डिजिटल करेंसी जारी करता है तो इसके ऊपर वह उस Digital Currency का आधिपत्य अपने पास में रखता है। जिसके द्वारा उस electronic currency की सुरक्षा की जिम्मेदारी उस एक संस्था की हो जाती है।  इसीलिए उसे Central Bank डिजिटल  करेंसी  कहा जाता है।

  1. Cryptocurrencies

Cryptocurrency का मूल रूप DeFi होता है। यानी कि  डिसेंट्रलाइज्ड  फाइनेंशियल  सिस्टम।  यानी कि  वह फाइनेंशियल  सिस्टम जिसका अधिपत्य किसी भी एक संस्था के पास में नहीं होता और  उसका सत्यापन विभिन्न प्रकार के सिस्टम के द्वारा किया जाता है। और  उसे मूल रूप से Blockchain सिस्टम के आधार पर जोड़ा जाता है।  जिसमें NFT जिसे non-Fungible Token भी कहा जाता है।

 

  1. Stable Coin

Stable Coin कोई भी एक प्रकार का कितना Currency का Variation होता है जिसे Volatility को कंट्रोल करने के लिए और रेगुलेट करने के लिए Cryptocurrency के परिप्रेक्ष्य में शुरू किया जाता है। और इसकी कीमत  एक प्रकार से निश्चित ही होती है, और Cryptocurrency की तरह  सबसे ज्यादा Volatile होती है।

 

Advantage & Disadvantage of Digital Currency

Advantages Digital Currency

  • Digital Currency भौतिक रूप से स्टोरेज करने का झंझट हटा देता है।
  • इसमें Cash सिस्टम काम नहीं करता है।
  • आप को अपने पैसे को इन्वेस्ट करने की या फिर किसी बैंक में रखने की आवश्यकता नहीं होती, और आपकी मर्जी के बिना कोई इसे देख भी नहीं सकता है।
  • Digital Currency का रिकॉर्ड कभी भी हटाया नहीं जा सकता, और ट्रांजैक्शन के लिए अकाउंटिंग बहुत ज्यादा सिम्प्लीफाई कर दी जाती है। यह Block Chain Technology पर निर्भर करती है।
  • Digital Currency के द्वारा क्रॉस बॉर्डर ट्रांजैक्शन  आसानी से किया जा सकता है। जिसके लिए किसी प्रकार की  Fees की आवश्यकता नहीं होती।
  • Cryptocurrency या फिर electronic currency  को इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति का पता लगाना बहुत मुश्किल है।
  • Digital Currency को इस्तेमाल करने के लिए आप तो अपनी पहचान बताने की आवश्यकता नहीं है।
  • Digital Currency को सामान्य तौर पर कोई भी सरकार या फिर संस्था रेगुलेट करने में कामयाब नहीं हो सकती, क्योंकि  यह  डिसेंट्रलाइज फॉर्म ऑफ मनी है।

 

Disadvantages of Digital Currency

Digital Currency के अपने आप में कुछ नुकसान भी है जैसे कि-

  • Digital Currency को इस्तेमाल करने के लिए बनाए गए प्लेटफार्म को अभी तक सबसे ज्यादा सिक्योर नहीं किया गया है, इसलिए यहां पर हैकिंग  करना  नामुमकिन नहीं है।
  • यदि कोई देश डिजिटल  करेंसी  में बहुत बड़ा हिस्सा इन्वेस्ट करता है और वह हिस्सा हैक  जाता है  तो वह देश अपने घुटनों पर आ सकता है।
  • Digital Currency के द्वारा किसी भी user की प्राइवेसी को कंप्रोमाइज किया जा सकता है। इसकी तुलना में Cash ट्रांजैक्शन के द्वारा किसी भी यूजर का पता लगाना पॉसिबल नहीं है लेकिन Digital Currency के साथ में यूजर की प्राइवेसी खतरे में आ सकती है।
  • Digital Currency का इस्तेमाल किसी भी देश की गवर्नेंस को मिटाने के लिए किया जा सकता है क्योंकि इसकी कीमत बहुत ज्यादा Volatile है

 

Digital Currency का भविष्य

Digital Currency का भविष्य आज के समय  डिजिटल  करेंसी  की कीमत की तरह ही वोलेटाइल नजर आता है। क्योंकि डिजिटल  करेंसी   अपने आप में बहुत ज्यादा सिक्योर नहीं है। लेकिन इसका विज़न बहुत अच्छा है। जिसकी वजह से डिसेंट्रलाइज फाइनेंस के द्वारा लोगों को अपने पैसों की रखवाली के लिए किसी बैंक की आवश्यकता नहीं होती।

 

लोग अपने पैसों के मालिक खुद होते हैं कोई बैंक या संस्था नहीं होती। इसी विजन ने आज के समय Cryptocurrency या फिर डिजिटल  करेंसी  को एक नया मुकाम दिलाया है। यदि यह विजन  अपने आप में बहुत ज्यादा सिक्योर होता है, और इसमें हैकिंग की संभावना मिटा दी जाती है, तो भविष्य में Digital करंसी पूरे विश्व का भविष्य बन सकता है।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना कि डिजिटल  करेंसी  क्या है, डिजिटल  करेंसी  के क्या फायदे और क्या नुकसान है, डिजिटल  करेंसी  का क्या भविष्य है, डिजिटल  करेंसी  कितने प्रकार की होती है, आज की डेट में हमें D Currency के बारे में लगभग सारी बातें जानी है।

हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

धन्यवाद

Read More: List of The Best Indian Online Casino Sites | Cybersecurity companies in India

Leave a Comment

Your email address will not be published.